मुक्तांचल हिंदी-पत्रिका

मुक्तांचल हिंदी-पत्रिका

Comments

नमस्कार 🌷🙏 शैक्षिक पटल https://www.youtube.com/channel/UCa3aEQsPUBZtUhJW3--5ZtQ🌷

https://youtu.be/8ucQpwW3kd0. 'दृश्यते अनेन इति दर्शनम् ' भारतीय दर्शन सम्पूर्ण विश्व में सर्वाधिक प्राचीन है।🌷 like subscribe comment share please 🚩
https://youtu.be/WuYPiAKUk8Y शिक्षक राष्ट्र का निर्माता होता है आचार्य चाणक्य का राष्ट्र निर्माण में योगदान अविस्मरणीय है 🌷 लाइक सब्सक्राइब कमेंट शेयर करें।🙏
https://youtu.be/W9e-6OpjztA🌷सनातन धर्म एक जीवन पद्धति है। राष्ट्र का पर्याय है। like subscribe comment share please 🌷
https://youtu.be/rOQlVoeaM7E. 'तमसो मा ज्योतिर्गमय' अंधेरे से
उजाले की ओर 🪔

https://youtu.be/0kKBakxWlK8"त्वं स्वाहा त्वं स्वधा त्वं हि वष्‌टकारः स्वरात्मिका ..!"

जीव व ब्रह्म को उदर में धारण करने वाली नारी परमसत्ता की अत्यंत समर्थ, कोमल व निर्दोष अभिव्यक्ति है। मंत्रदृष्टा ऋषिकाओं से लेकर आधुनिक भारत के सृजन में मातृ सत्ता का अतुलनीय योगदान है।🌷यत्र नार्यस्तु पूज्यंते रमंते तत्र देवता। like subscribe comment share please 🙏
शैक्षिक पटल https://youtu.be/aF1KyG8aWAM
शरद पूर्णिमा की चांदनी की किरणों के औषधीय गुणों के कारण यह मन मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए वरदान है।🌷 like subscribe comment share please 🙏
शैक्षिक पटल https://youtu.be/WuYPiAKUk8Y शिक्षक राष्ट्र का निर्माता होता है आचार्य चाणक्य का राष्ट्र निर्माण में योगदान अविस्मरणीय है 🌷 लाइक सब्सक्राइब कमेंट शेयर करें।🙏
मुक्तक

सितमभरी जिंदगी सज़ा हो गई है
हौसले मर चुके इंतिहा हो गई है
जाए और कहीं तलाशें सकूनें जहाँ
मुरादों माँगी नगरी वीरां हो गई है ।

मोहब्बत मेरी भूली दास्तां हो गई है
तन्हा जमीं पर रूह तन्हा हो गई है
कभी लगाए थे पहरे भी जमाने ने
गूंगी जुबां से मेरी परेशां हो गई है ।--इन्द्रा रानी
*********
शतरूपा

महिला ही नहीं, बल्कि पुरुष कलम भी स्त्री मन को कैसे कागज पर उकेरती है, यह प्रस्तुत करने का अभिनव प्रयास है - शतरूपा।

महिलाओं पर केंद्रित कविताओं के संग्रह ‘शतरूपा’ में आपकी भागीदारी का स्वागत है।

परामर्शदाता: वरिष्ठ कवि मनोज शर्मा
संपादक मंडल:
अलका अग्रवाल सिगतिया,
विवेक अग्रवाल, हरीश जैन

आपकी कविताएं यूनीकोड में टंकित की हुई [email protected] पर साझा करें।

कृपया ईमेल सब्जेक्ट लाईन में Shatrupa Poetry Collection लिखें तो हमें सुविधा होगी।

रचना के साथ 100 शब्दों में परिचय, तस्वीर, ईमेल, फोन नंबर, पता जरूर दें।

ध्यानार्थ:
रचना प्रकाशन हेतु शुल्क नहीं है।
संपादक मंडल का निर्णय अंतिम एवं मान्य।
पुस्तक का प्रकाशन यूनीस्टार बुक्स से होगा।

रचनाएं भेजने की अंतिम तिथी: 30 अगस्त 2020
कृपया "मुक्तांचल" के ताज़ा अंक की जानकारी दें जी।

Contact information, map and directions, contact form, opening hours, services, ratings, photos, videos and announcements from मुक्तांचल हिंदी-पत्रिका, Education, 6/2/1 aashutosh mukharjee lane, Howrah Salkia.

Operating as usual

22/03/2015

Muktanchal ka naya ank- jan -mar 2015

21/01/2015

मुक्तांचल (अक्टूबर-दिसंबर ) की अवस्थिति

[01/21/15]   मुक्तांचल (अक्टूबर-दिसंबर ) की अवस्थिति और संस्तुति

[01/04/15]   भारत और झारखंड (भारत का 28वॉ राज्य) में एक समानता है ; दोनों ने स्वराज के लिए लंबा संघर्ष किया है। भारत ने अंग्रेजी शासन के विरुद्ध संघर्ष किया है ; तो झारखंड ने अंग्रेजी शासन के बाद भी दिकू शासन के विरुद्ध । अपने लंबे संघर्ष के दौरान भारतीय और झारखंडी दोनों ने अपनी प्रत्येक समस्याओं का समाधान स्वराज में ही माना था ; परंतु न भारतीय जनता को उसके सपनों का स्वराज मिला और न ही झारखंडी आदिवासियों को | दोनों स्थानों पर आजादी के तुरंत बाद स्वराज के सपनों की राजनीति की पराजय हुई ।

[01/01/15]   नव वर्ष,हर्ष नव
जीवन उत्कर्ष नव।
नव उमंग , नव तरंग ,
जीवन का नव प्रसंग। - हरिवंश राय बच्चन

[12/31/14]   मुक्तांचल परिवार की ओर से सभी पाठकों को
नव वर्ष 2015 की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

30/12/2014

मुक्तांचल हिंदी-पत्रिका's cover photo

30/12/2014

मुक्तिबोध विशेषांक
सुधी पाठकों को समर्पित

30/12/2014

मुक्तांचल पत्रिका। ..........

प्रिय पाठकों

यह मुक्तांचल के प्रथम अंक परिचय हैं

यहाँ से आप मुक्तांचल के सम्पादकीय कार्यालय का पता प्राप्त कर सकते हैं।

30/12/2014

Timeline Photos

30/12/2014

मुक्तांचल पत्रिका। ..........

प्रिय पाठकों

यह मुक्तांचल के प्रथम अंक परिचय हैं

यहाँ से आप मुक्तांचल के सम्पादकीय कार्यालय का पता प्राप्त कर सकते हैं।

30/12/2014

मुक्तिबोध को एक बार फिर पढ़े

30/12/2014

मुक्तांचल हिंदी-पत्रिका

30/12/2014

Timeline Photos

30/12/2014

लिरिकल होना बाधा नहीं प्रगतिशीलता में
-------------------------------------------
जयप्रकाश मानस की कलम से

शोध, समीक्षण, सृजन एवं संचार जैसे गंभीर प्रसंगों पर केंद्रित पत्रिका 'अभिव्यंजना' का नया अंक मेरे हाथ लगी है नये नाम से - 'मुक्तांचल' । इसे मुक्तांचल का पहला अंक कहें या फिर अभिव्यंजना का 5 वाँ अंक । ऐसा पंजीयन की औपचारिकताओं के कारण हो जाता है ।
संपादकीय धार-दार है - ''हर बात में कुछ अजीब-सी लगने वाली चीज़ हमें अधिक खींचती है क्योंकि तमाशा उसी से बनता है । आज ज़माना तमाशे का है, नुमाइशों का है, धमाकों का है । प्रपंच की भाषा हावी होती जा रही है । ऐसा भाषा जो केवल ज़हर छोड़ती है, धुआँ फैलाती है - संशय से ग्रस्त संवेदनहीन परिवेश खड़ा कर देती है ।'' क्या हम इस परिवेश को शिद्दत से पहचानना चाहते हैं औऱ पाठकीय समाज को बचाने की जद्दोजहद को अख़्तियार करना चाहते हैं ? बहुतों के पास इसके लिए फूर्सत नहीं है आज ।
कृष्णदत्त पालीवाल ने अपने आलेख कवि कर्म में तप औऱ ताप का नया पाठ में भवानी भाई की कविता की व्यापक औऱ विश्वसनीय परीक्षण किया है । गीत काव्य - रचना और अभिग्रहण में रवि रंजन फिर से याद दिलाते हैं - कविता का लिरिकल होना राष्ट्रीयता, प्रगतिशीलता या प्रतिबद्धता के आड़े नहीं आता । वस्तुतः कविता की काव्यात्मकता को लिरिक से अलग कर कतई नहीं देखा जा सकता । बिलकुल मार्के की बात है । जो नहीं इसे नहीं मानते उनकी कविताओं पर मक्खी भी भिनभिनाने की हिम्मत नहीं जुटा पाती ।
व्यासमणि त्रिपाठी ने मुक्तिबोध की क्रांतिकारी कविताओं को अपने तईं देखा-परखा है - अंगारी चेतना के क्रांतिकारी कारीगर में । रामदरश मिश्र जैसे प्रतिष्ठित और वरिष्ठ कवि के उत्तरवर्ती काव्य-कर्म की रोचक पड़ताल पाण्डेय शशिभूषण शीतांशु ने यहाँ की है । मधुरेश जैसे कथा-आलोचक को पढ़ना सच्चे अर्थों में कहानी को समझना होता है । वे भारतीय समाज के बरक्स अल्पसंख्यक समाज की बारीक़ी पर यहाँ गंभीर विमर्श कर रहे हैं, जिसे नकारना भूल होगी ।
114 पृष्ठों में बहुत सारी और पठनीय सामग्री के साथ संपादकीय टीम को बधाई कि इस त्रैमासिक लघुपत्रिका में शिवकुमार अर्चन, सुधीर रंजन सिंह, काली प्रसाद जायसवाल, डॉ. मजुला चतुर्वेदी की कविता को भी ख़ास तौर पर प्रकाशित किया है । साहित्य के गंभीर पाठकों और लेखकों के लिए ऐसी पत्रिका का सदैव स्वागत ही होता है । हर अंक अपना छाप छोड़ेगा ।
----------------------------
पत्रिका - मुक्तांचल
संपादक - डॉ. मीरा सिन्हा
वार्षिक शुल्क - 200 रूपए
संपर्क - आधुनिक अपार्टमेटं, 62//1, आशुतोष मुखर्जी लेन, सलकिया, हावड़ा-711106, ईमेल- [email protected]
------------------------------

30/12/2014

मुक्तांचल पत्रिका। ..........

प्रिय पाठकों

यह मुक्तांचल के प्रथम अंक की संस्तुति हैं.

Location

Category

Telephone

Address

6/2/1 Aashutosh Mukharjee Lane
Howrah Salkia
711006
Other Education in Howrah Salkia (show all)
MASS EDU HUB MASS EDU HUB
493/C/A, G.T. Road (South) Vivek Vihar, Block - 'H'
Howrah Salkia, 711102

Welcome you to Mass Edu Hub; one of the best institutes to introduce quality focused professional & educational training Inst.

Oxford professional academy Oxford professional academy
88 S.s School Road
Howrah Salkia, 711106

we provide online courses i.e b.a , b.com, mba, bba, pgdm , b ed, nios and many other courses we provide u.g.c approved degree. we offer karnataka state

Howrah District Taekwondo Academy Howrah District Taekwondo Academy
HOWRAH
Howrah Salkia, 711101

IT'S A TAEKWONDO ACADEMY

Pilkhana Helping Hands Foundation Pilkhana Helping Hands Foundation
105 Pilkhana 2nd Lane
Howrah Salkia, 711106

Think For Mass Not For Media

Achievers adda Achievers adda
Howrah Salkia, 711101

We take the pleasure of introducing “Brilliant achievers”, which amply justify our vision of transforming average into brilliant achievers, under the flagship of Innovative education world.

Progressive Educational Point."Science Section" Progressive Educational Point."Science Section"
33, Pilkhana 3rd Bye Lane
Howrah Salkia, 711101

All info related to your coaching.

Distance Learning Courses Distance Learning Courses
Howrah
Howrah Salkia, 711101

To Fullfill Your Study From UGC Approved University D.I.G Infocom, Information Centre Contact No: +91-916333 5549,+91-9433732760

Vikaas Vikaas
12,MADHAB GHOSH ROAD,SALKIA,HOWRAH-711106
Howrah Salkia, 700091

You yourself are your opponent and at "VIKAAS" we help you to beat your opponent... "YOU ARE A JEWEL,YOU JUST NEED OUR POLISHING"

Shiksha Sarowar Shiksha Sarowar
7, Ashutosh Mukherjee Lane, Salkia Howrah
Howrah Salkia, 711106

Siksha Sarowar (A lamp of education)Education for all